शुक्रवार, 17 अगस्त 2012

अंजाने रिश्ते


                         


कुछ रिश्ते बड़े अजीब होते हैं।
न चाहते हुए भी दिल के करीब होते हैं।
नाही इनमें वासना, नाही कोई उम्मीद
फिर न जाने क्यो हम इनको संजोते हैं।
कुछ रिश्ते बड़े अजीब होते हैं..............

हाथों की लकीरों में नहीं हैं
और नाही तकदीर में इनकी कोई ताकीद।
फिर क्यों उम्मीद से भरे होते हैं ये
कुछ रिश्ते बड़े अजीब होते हैं.........

 निहारिका श्रीवास्तव 

1 टिप्पणी: